Solar Plate : अपने छत पर लगाएं फ्री सौर ऊर्जा ,लाखों लोगों ने उठाया इसका लाभ। जाने इस योजना के बारे में ।

नमस्कार दोस्तो हमारी वेबसाइट में आपका स्वागत है आज हम Solar Plate : अपने छत पर लगाएं फ्री सौर ऊर्जा ,लाखों लोगों ने उठाया इसका लाभ। जाने इस योजना के बारे में । सौर पैनल (Solar Panel) ऊर्जा प्रदूषण को कम करने के साथ-साथ पैसे भी बचाते हैं।

एक कॉम्पैक्ट घर में सौर पैनलों का उपयोग करने से ऊर्जा की खपत 30 से 50 प्रतिशत तक कम हो सकती है। सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना के तहत केंद्र सरकार 500 केवी पर सोलर पैनल (Solar Panel) लगाने के लिए 20% सब्सिडी प्रदान करती है।

ये भी पढ़ें :- Web Hosting क्या है और कहाँ से खरीदें [50% Sale] | What Is Web Hosting in Hindi

इस योजना का लाभ उठा कर देश के किसान सशक्त तथा आत्मनिर्भर बनेगे। 1 वर्ष में 1 मेगा वाट प्लांट 11 लाख यूनिट ऊर्जा प्रदान करेगा, आपकी बनाई ऊर्जा कंपनी 30 पैसे पर यूनिट खरीदेगी। प्रधानमंत्री जी के माध्यम से इस KUSUM Yojana के दुवारा किसानो को दो प्रकार का लाभ दिए जायगा।

Solar Plate : अपने छत पर लगाएं फ्री सौर ऊर्जा ,लाखों लोगों ने उठाया इसका लाभ। जाने इस योजना के बारे में ।

आपकी छत खुली-खुली है और आसपास कोई उंचे भवन नहीं हैं तो यह आपके लिए पैसे कमा सकती है। सोलर क्षेत्र में काम करने वाली कंपनी सनगार्नर के सीईओ और संस्थापक सुमित तिवारी का कहना है कि.

अगर आपकी छत पर दिन के 8-9 घंटे भी पर्याप्त धूप आती है तो फिर आप अपने बिजली बिल में कटौती कर सकते हैं। दरअसल, आप अपनी छत पर सोलर पैनल लगा कर बिजली बनाएंगे। उसे ही आप ग्रिड में सप्लाई कर अपने बिजली बिल में कटौती करेंगे।

ये भी पढ़ें :- Inter Setup exam Routine 2023 : इंटर सेंटअप परीक्षा का रूटीन बिहार बोर्ड किया जारी । 12th sentup exam pdf 2023

सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना में खर्चा का भुगतान 5 से 6 साल में किया जाएगा। इसके बाद आपको अगले 20 साल तक सोलर पैनल से मुक्त सोलर ऊर्जा आपको अगले 20 साल तक सोलर पैनल से मुक्त सोलर ऊर्जा आपको बिजली मिलता रहेगा और

इस सोलर पैनल योजना के लिए आपको बिजली वितरण कंपनी के नजदीकी कार्यालय से आपको वहां जाकर संपर्क करना होगा। साथ ही साथ अधिक जानकारी के लिए आप और ऊर्जा के गवर्नमेंट वेबसाइट पर ऑफिस जाकर चेक कर सकते हो।Solar Plate

योजना का क्रियान्वयन राज्यों के विद्युत् वितरण कंपनियों के द्वारा किया जा रहा है. अधिक से अधिक लोग इस योजना से जुड़ सकें इसके लिए बिजली कंपनियों द्वारा कई प्रयास किये जा रहे हैं. मध्य प्रदेश ऊर्जा विभाग द्वारा भी ऐसा ही प्रयास किया जा रहा है, मध्यप्रदेश में लोगों को योजना के विषय में जानकारी देने के लिए 23 एवं 24 अगस्त को सोलर रूफटॉप की जन-जागृति के लिए अमृत महोत्सव मनाने का फैसला किया गया है.

एक किलोवाट का सोलर पैनल लगाने के लिए 10 वर्ग मीटर स्थान की आवश्यकता पड़ती है। सोलर पैनल का लाभ 25 सालों तक उठाया जा सकता है। इसकी पूर्ण लागत का भुगतान 5-6 सालों में पूरा हो जाता है जिसके बाद 19-20 सालों तक इसका मुफ्त लाभ उठाया जा सकता है।

Solar Plate : अपने छत पर लगाएं फ्री सौर ऊर्जा ,लाखों लोगों ने उठाया इसका लाभ। जाने इस योजना के बारे में ।

सोलर रूफ टॉप योजना के तहत सोलर पैनल अपने घर या हाउसिंग सोसाइटी के की छत पर लगा सकते हैं. इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि बिजली के बिल की बचत होगी. 25 सालों तक पैनल खराब नहीं होते हैं.

तो इसे लगाने में जो भी पूंजी लगती है उसकी भारपाई चार से पांच वर्षों में हो जाएगी. इसके बाद अगले 20 सालों तक ग्राहकों को मुफ्त में बिजली की व्यवस्था हो जाएगी. पावर कट की भी समस्या नहीं रहेगी. सोलर एनर्जी ग्रीन एनर्जी है तो इससे प्रदूषण नहीं होगा और पर्यावरण को इसका लाभ मिलेगा.

सोलर पैनल लगवाने के बाद आपको हर बार भारी भरकम बिजली का बिल नहीं देना होगा। सौर पेनल की सहायता से आपको मुफ्त में बिजली मिलेगी जिसका कोई बिल नहीं आएगा। हालांकि इसको एक बार लगवाने में जरूर ज्यादा खर्चा आता है

पर इसके बाद आप कई सालों तक मुफ्त बिजली प्राप्त कर सकते हैं। जैसा कि ये सोलर पैनल से जो बिजली मिलेगी वे मुफ्त होगी। इससे बिजली का बिल में करीब 30 से 50 प्रतिशत बचत होगी। वहीं आवश्यकता पडऩे पर आप विद्युत निगम की बिजली का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपके बिजली बिल का खर्चा कम होगा।

सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना आवेदन करने के लिए

सबसे पहले आपको सोलररूफटॉप के गवर्नमेंट वेबसाइट पर जाना होगा इसके बाद आपको अप्लाई और सोलररूफटॉप पर क्लिक करना होगा। इसके बाद से आपको अपना राज वाले भी कल को क्लिक करना होगा। अब आपको निवेदन फॉर्म भरना है इस तरह से आपका सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना आवेदन का प्रक्रिया पूरा हो जाएगा।

Solar Panel के लिए कितनी जगह चाहिए?

सोलर पैनल (Solar Panel) के लिए अतिरिक्त जगह रखने की जरूरत नहीं है। किलोवाट सौर ऊर्जा के लिए 10 वर्ग मीटर क्षेत्र की आवश्यकता होती है। केंद्र सरकार 3kV सोलर रूफ प्लांट के लिए 40% और 3kV के बाद 20% सब्सिडी प्रदान करती है। सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना आप नजदीकी बिजली वितरण कंपनी के कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए आप mnre.gov.in पर जा सकते हैं।

यह बिजली बिलों पर पैसे बचाएगा

सौर पैनल (Solar Panel) ऊर्जा प्रदूषण को कम करने के साथ-साथ पैसे भी बचाते हैं। एक कॉम्पैक्ट घर में सौर पैनलों का उपयोग करने से ऊर्जा की खपत 30 से 50 प्रतिशत तक कम हो सकती है। सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना के तहत केंद्र सरकार 500 केवी पर सोलर पैनल (Solar Panel) लगाने के लिए 20% सब्सिडी प्रदान करती है।

सोलर रूफटॉप सब्सिडी फोन नंबर

सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना के साथ, आप टोल फ्री नंबर 1800-180-3333 पर विवरण प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही, आधिकारिक वेबसाइट पर एजेंसियों, सौर छत एजेंसियों की एक स्मार्ट आधिकारिक सूची भी देखी जा सकती है।

हम आपको बता दें कि सोलर रूफटॉप फंडिंग प्रोग्राम का प्रबंधन भारत सरकार के अक्षय ऊर्जा और नवीकरणीय ऊर्जा विभाग द्वारा किया जाता है। Solar Plate लगा सकते है ।

सोलर रूफटॉप योजना जाने

यदि आप सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना के बारे में और भी जानकारी पाना चाहते हैं तो आप आप दिए गए हैं टेलीग्राम लिंक को ज्वाइन कर ले या तो यह गए टोल फ्री नंबर 18001803333 पर कॉल करके आप अधिक जानकारी पा सकते हैं। Solar Plate

सोलर रूफ टॉप अमृत महोत्सव

भारत सरकार के नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्रालय एवं मध्यप्रदेश ऊर्जा विभाग के अंतर्गत म.प्र. मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी भोपाल, पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी जबलपुर एवं पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी इंदौर द्वारा 23 एवं 24 अगस्त को सोलर रूफटॉप की जन-जागृति के लिए अमृत महोत्सव मनाया जाएगा. महोत्सव में राज्य की तीनों वितरण कंपनियों द्वारा सोलर रूफटॉफ के लिए उपभोक्ताओं में जन-जागृति के लिए कार्यक्रम, सेमिनार और शिविर आयोजित किये जाएंगे.

प्रदेश के लोगों को इस योजना के प्रति जागरुक करने के लिए भोपाल सहित मध्य प्रदेश के अन्य शहरों में 150 से अधिक कैंप लगाए जाएंगे.

यह कैंप विभिन्न शहरों में ग्रुप हाउसिंग सोसायटी, रेसिडेन्सीयल वेलफेयर एसोसिएशन के माध्यम से आयोजित किए जाएंगे. अकेले भोपाल शहर में ही लगभग 32 कैंपस को टार्गेट किया गया है जहां पर सोलर रुफटॉप योजना के तहत कैंप लगाए जाएंगे. इस मौके पर 24 अगस्त को आईएएस गेस्ट हाउस, चार इमली में भी जन-जागृति शिविर लगाया जाएगा.

कितनी है कीमत

1 कि.वा. से 3 कि.वा. तक : 37000 प्रति किलोवाट

3 कि.वा. से ऊपर -10 कि.वा. तक : 39800/- प्रति किलोवाट

10 कि.वा. से ऊपर -100 कि.वा. तक : 36500/- प्रति किलोवाट

100 कि.वा. से ऊपर -500 कि.वा. तक : 34900/- प्रति किलोवाट

इस राशि में सब्सिडी भी शामिल है. तीन किलोवाच के लिए सब्सिडी घटाकर एजेन्सी को 66600 रुपए का भुगतान करना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें :-  

स्कूल कॉलेज को तत्काल रुप से बंद करने का आदेश जाने कारण

Seva Sindhu (ಸೇವಾ ಸಿಂಧು) Online Registration

MahaDBT Scholarship 2022: Online Application, Last Date

Portal to Find Lost Mobile Phone: Complaint Form, Ceir.gov.in

RTPS Bihar: जाति, निवास, आय प्रमाण पत्र Apply Online कैसे करे

What we expect from Apple’s iPhone 14 event

Leave a Comment